Technology

अब पैरेंट दूर रहकर भी रख सकते हैं बच्चों पर नजर

मुंबई/जनदखल. इंटरनेट में हर तरह की जानकारियां देखने को मिल जाती है. यह ना सिर्फ अच्छी चीजें सिखाती है बल्कि यहां गलत चीजों का भी भंडार है। ऐसे में कई माता-पिता या भाई-बहन को अक्सर अपने घर में मौजूद किशोरावस्था के बच्चों की चिंता सताती है कि वह कहीं स्मार्टफोन पर आपत्तिजनक कंटेंट न देखने लगें। इस चिंता से निजात पाने के लिए आप कुछ खास एप्लीकेशन का इस्तेमाल कर सकते हैं।

सिक्योर टीन पेरेंटल कंट्रोल- छोटे भाई-बहन या बेटा-बेटी को आपत्तिजनक कंटेंट से बचाने के लिए एप का इस्तेमाल कर सकते हैं। यह एप स्मार्टफोन की समय सीमा निर्धारित करने का विकल्प देता है। ऐसे में फोन तय समय के बाद खुद ब खुद लॉक हो जाता है। यहां तक कि यह एप ऑनलाइन गतिविधि को भी रिकॉर्ड करता है। इससे आप देख सकते हैं कि आपकी गैरमौजूदगी में छोटा भाई क्या कर रहा था।

स्मार्टफोन से बच्चा किसे कॉल कर रहा है, किससे कितनी देर बात रहा है, किसे कब क्या मैसेज भेज रहा है और फेसबुक-वाट्सएप जैसी सोशल साइट पर वह कब ऑनलाइन है, यह सब जानकारी रखने के लिए पैरेंटल कंट्रोल बोर्ड एप मददगार साबित हो सकता है। मां-बाप या भाई-बहन इसके जरिए बच्चों के फोन पर व्हाइट लिस्ट और ब्लैक लिस्ट भी बना सकते हैं। व्हाइट लिस्ट में जहां उन लोगों के फोन नंबर और ईमेल एड्रेस शामिल किए जा सकते हैं, जिन्हें बच्चे को कॉल करने, मैसेज भेजने और सोशल मीडिया अकाउंट पर जुड़ने की अनुमति होगी।

Leave a Comment