State

नंदराज पहाड़ को बचाने के लिए ग्रामीणों का विरोध-प्रदर्शन जारी

रायपुर/जनदखल. बैलाडीला पर्वत श्रृंखला के नंदराज पहाड़ पर स्थित एनएमडीसी की डिपॉजिट 13 नंबर खदान को अडानी ग्रुप को दिए जाने का आदिवासी ग्रामीणों ने विरोध शुरू किया है, जो अब तक जारी है। नंदराज पहाड़ को बचाने के लिए दंतेवाड़ा और बीजापुर जिले के करीब के गांवों से आए तीन हजार से ज्यादा आदिवासियों का आंदोलन बैलाडीला में रविवार को तीसरे दिन भी शांतिपूर्वक जारी रहा। ये आदिवासी अपने परंपरागत हथियारों और वाद्ययंत्रों के साथ पहुंचे हैं और चेकपोस्ट को घेरकर नाच-गाने के साथ प्रदर्शन कर रहे हैं।

गौरतलब है कि आदिवासी देवताओं का पहाड़ मानकर नंदराज की पूजा करते हैं। इसे बाचने के लिए सभी एकत्र होते जा रहे है। खबर है कि बैलाडीला की 13 नंबर की खदान नंदराज पहाड़ पर है। पहाड़ तक पहुंचने और खनन शुरू करने के लिए 50 मीटर चौड़ी और छह किमी लंबी सड़क बनेगी। इसके लिए 25,400 पेड़ काटे जाएंगे। इसी के विरोध में सब एक साथ हुए है। दूसरी तरफ शनिवार को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भी किरंदुल में अडानी ग्रुप द्वारा की जाने वाली खुदाई के विरोध आदिवासियों के प्रदर्शन को लेकर कहा है कि पिछली भाजपा सरकार ने जो फैसला किया है, उसकी समीक्षा करने की आवश्यकता है। आखिर जनता को विश्वास में लेकर फैसला क्यों नहीं किया गया। क्योंकि सारी प्रक्रिया पिछली सरकार की है इसलिए इस पर पुनः समीक्षा की आवश्यकता है।

Leave a Comment