State

विधानसभा में उठा किसानों के कर्ज माफी का मुद्दा, हुआ जमकर हंगामा

रायपुर/जनदखल. विधानसभा में आज जमकर हंगामा देखने को मिला। जिसके बाद 18 जुलाई तक कार्यवाही स्थगित कर दी गई। इससे पहले नेता प्रतिपक्ष ने फिर किसानों के कर्ज माफी के मुद्दों को उठाते हुए चर्चा की मांग की। जिसके बाद सत्ता पक्ष के सदस्यों ने नारेबाजी शुरू कर दी। इसके बाद भाजपा, जनता कांग्रेस और बीएसपी सदस्य नारेबाजी करते गर्भगृह में आ गए और नारेबाजी करने लगे।

पूर्व सीएम रमन सिंह, नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक सहित विपक्ष के सदस्य धरने पर बैठ गए। इसके पहले विधानसभा में शून्य काल के दौरान महाधिवक्ता कनक तिवारी के इस्तीफे पर जमकर हंगामा हुआ। जिसके बाद सदन की कार्यवाही दस मिनट के लिए स्थगित कर दी गई है। दरअसल आम सभा में शून्यकाल के दौरान भाजपा सदस्य अजय चंद्राकर ने महाधिवक्ता के इस्तीफे का मामला उठाया। उन्होंने कहा कि महाधिवक्ता के रूप में काम कर रहे हैं कनक तिवारी के इस्तीफे को लेकर भ्रम की स्थिति है।

सरकार कहती है कि महाधिवक्ता ने इस्तीफा दे दिया है, नए महाधिवक्ता की नियुक्ति कर दी गई है। वहीं दूसरी तरफ सोशल मीडिया से लेकर अखबारों तक कनक तिवारी का बयान सामने आया कि उन्होंने इस्तीफा दिया ही नहीं है। जिसको लेकर पक्ष और विपक्ष के बीच तीखी नोकझोंक हुई। कनक तिवारी को हटाए जाने को लेकर भाजपा सदस्यों ने चर्चा की मांग की।

इसके साथ ही बस्तर जिले में सड़क एवं पुल पुलिया के निर्माण का मामला उठाया गया। विधायक लखेश्वर बघेल ने गृह मंत्री से पूछा कि बस्तर जिले में वर्ष 2017 और 18 19 में लोक निर्माण विभाग ने कौन-कौन सी सड़क ,पुल – पुलिया का कार्य स्वीकृत किया है और वे कार्य कितान पूरा हुए हैं। जिसके बाद पीडब्ल्यूडी मंत्री ताम्रध्वज साहू ने जानकारी दी कि बस्तर जिले में कुल 17 कार्यों की स्वीकृति प्रश्नातीत अवधि में की गई थी। इनमें से एक कार्य पूर्ण दो कार्य प्रगति पर है।

Leave a Comment