State

ई-टेंडर घोटाले पर सरकार नाराज, बीज निगम ने चार कंपनियों को किया प्रतिबंधित

रायपुर/जनदखल. राज्य में कई विभागों में हुई गडबड़ियों पर नई सरकार का ध्यान बराबर है. एक के बाद एक विभागों से गड़बड़ी पकड़ी जा रही है. ताजा घटनाक्रम में रिंग बनाकर बीज सप्लाई का टेंडर हासिल करने वाली कंपनियों की अमानत राशि राजसात करते हुए बीज निगम ने उन्हें अगले पांच सालों के लिए निविदा प्रक्रिया में भाग लेने से प्रतिबंधित कर दिया है.

बीज निगम में ऑनलाइन टेंडर प्रक्रिया में इस गड़बड़ी का खुलासा कैग की रिपोर्ट के बाद हुआ था. बीज निगम के वर्ष 2012-13 से वर्ष 2016-17 का ऑडिट चेक करने के बाद महालेखाकार ने पाया कि कई बोलीदारों ने दो अलग-अलग कंपनी बनाकर टेंडर हासिल कर लिया है. इसमें मेसर्स बीजो शीतल सीड्स प्राइवेट लिमिटेड और मेसर्स कलश सीड्स प्राइवेट लिमिटेड के मालिक, कार्यालय का पता और फोन नंबर एक पाया गया. इसी तरह डीलक्स रिसाइकिलिंग प्राइवेट लिमिटेड और आशापुरा रिसाइकिलिंग सिस्टम मुंबई के फोन नंबर, पते और बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स भी एक ही पाए गए.

Leave a Comment