State

ब्लैकमेलिंग मामले में फिरोज की जमानत याचिका खारिज, पुलिस उगलवाएगी राज

रायपुर/जनदखल. ब्लैकमेलिंग मामले में फिरोज सिद्धिकी की जमानत याचिका खारिज कर दी गई है. 14 दिनों की न्यायिक रिमांड पर रईस और फिरोज दोनों भाई को जेल भेज दिया गया है। पप्पू फरिश्ता ने ब्लैकमेलिंग का आरोप लगाया है। साथ ही बता दें कि ब्लैकमेलिंग मामले में फिरोज सिद्धिकी के खिलाफ कॉमन इंटेंशन और आपराधिक षड्यंत्र की अतिरिक्त धाराएं भी जोड़ी गई है. फिरोज सिद्धिकी के भाई रईस सिद्धिकी को बीते कल पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया था।

इस मामले में पुलिस को फिरोज के ठिकानों की जांच के दौरान एक दर्जन पुराने हैंडसेट मिले हैं, जिसे छिपाकर रखा गया था। आधा दर्जन लैपटॉप, कंप्यूटर सिस्टम और टैब मिलने की चर्चा है। सीडी की संख्या 90 के पार चली गई है। पेन ड्राइव और हार्ड डिस्क भी मिले हैं। सभी की तकनीकी टीम जांच कर रही है। पुलिस को शक है कि आरोपियों ने जिस मोबाइल से स्टिंग किया है। उसे संभालकर रखा है। महंगे स्पाई कैमरे व रिकॉर्डर मिले हैं।
छोटे भाई रईस की गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने ग्वालियर में छापा मारकर फिरोज के करीबी सोनू यादव को गिरफ्तार कर लिया है। उसे सोमवार रात रायपुर लाया गया। वह फिरोज का राजदार है, तेलीबांधा पार्क रेसीडेंसी में रहता था, जो फिरोज का मकान है। पुलिस उससे पूछताछ कर रही है, उससे कई अहम जानकारी मिलने की संभावना है। पुलिस कुछ और करीबियों की तलाश में लगी हुई है। पुलिस की पड़ताल में खुलासा हुआ है कि रईस भाई होने के नाते फिरोज का रिकॉर्ड संभालता था।

Leave a Comment