State

डीकेएस अस्पताल की लापरवाही सामने आई, मरीज के पेट में छोड़ा तार

रायपुर/जनदखल. एक और चौंकाने वाली खबर डीकेएस सुपर स्पेशलिटी अस्पताल की तरफ से आई है। खबर है कि डाक्टरों ने ऑपरेशन के दौरान डेढ़ फीट लंबा तार मरीज के पेट में ही छोड़ दिया। जिसके चलते उसकी जान आफत में पड़ गई। दो महीने तक दर्द से तड़पने के बाद जब एक निजी डाक्टर के कहने पर मरीज ने एक्स-रे करवाया तब पेट में तार दिखा। घबराए हुए मरीज के परिजन दोबारा डीकेएस आए। डाक्टरों ने यहां सर्जरी नहीं हो सकेगी कहकर उसी हालत में मरीज को अंबेडकर अस्पताल भिजवाया। अंबेडकर अस्पताल के डाक्टर भी तार नहीं निकाल सके। प्राइवेट अस्पताल में सर्जरी कर तार बाहर निकाला गया।

भखारा धमतरी के लोहरपथरा के 25 वर्षीय देवनारायण की दोनों किडनी फेल होने के चलते उसके डायलिसिस के लिए फिटशुला बनाना था। इस दौरान ऑपरेशन के वक्त तार टूटकर पेट में रह गया। उसकी हालत अभी भी गंभीर है। घर जाने के बाद देवनारायण पूरी तरह से स्वस्थ्य नहीं हुआ। वह बेचैन रहने लगा। उसे 24 घंटे बुखार रहता था। हर तरह की दवाएं देने के बाद डाक्टरों ने एक्स-रे करवाया। तब पता चला पेट में तार छूट गया है। परिवार वाले उसे लेकर फिर डीकेएस के आए। उसके बाद मरीज के परिजन उसे लेकर प्राइवेट अस्पताल गए। दो दिन पहले उसकी सर्जरी कर तार निकाला गया।

Leave a Comment