State

विधायक विकास और पीसीसी चीफ मोहन मरकाम के साथ बड़ा हादसा होते बचा

रायपुर/जनदखल. छत्तीसगढ़ के दो नेताओं के साथ बड़ा हादसा होते-होते रह गया। एक घटना मुंगेली में पीसीसी चीफ मोहन मरकाम के साथ हुई तो दूसरी घटना रायपुर में विधायक विकास उपाध्याय के साथ हुई. एक का मंच टूटा तो दूसरे के ऊपर छत का प्लास्टर गिरते-गिरते बचा। पीसीसी चीफ मोहन मरकाम के स्वागत समारोह के दौरान मुंगेली में एक हादसा होते-होते रह गया। कांग्रेसियों के अति उत्साह और शक्ति प्रदर्शन के फेर में मंच ही टूट गया। मंच टूटा जरुर लेकिन हादसे में पीसीसी चीफ मोहन मरकाम को गंभीर चोट नही आई। अनुशासन प्रिय मोहन मरकाम कार्यकर्ताओं के इस अंदाज पर बुरी तरह बिफरे, उनकी नाराज़गी मुंगेली कप्तान पर भी बरसी। मोहन मरकाम पुलिस कप्तान पर इसलिए नाराज हुए क्योंकि व्यवस्था को नियंत्रित करने के लिए कोई चौकस व्यवस्था नही थी।

दूसरी तरफ, रायपुर में विधायक विकास उपाध्याय आमापारा प्रायमरी स्कूल का निरीक्षण कर रहे थे, कि वहां की जर्जर भवन की छत का प्लास्टर गिर गया। इस घटना में वे बाल-बाल बच गए। उन्होंने घटना के बाद परिसर में खाली पड़े प्रायमरी स्कूल भवन (अ) का स्वयं ताला तोडकऱ वहां बच्चों को स्थानांतरित कराया। वहीं उन्होंने शिक्षा अधिकारियों से चर्चा कर जर्जर स्कूल भवन की मरम्मत कराने के निर्देश दिए।

पालकों की लगातार शिकायत के बाद वे आमापारा स्कूल भवन पहुंचे। स्कूल में करीब 70 बच्चे पढ़ते हैं और भवन की जर्जर हालत को देखकर पालक चिंतित थे। वे वहां शिक्षकों के साथ स्कूल भवन की जर्जर हालत को देखकर शिक्षा अधिकारियों से चर्चा कर रहे थे, कि अचानक वहां का प्लास्टर गिर गया। यह घटना देखकर वे खुद हैरान रह गए। उन्होंने परिसर में जेएनएम योजना से पटवारी प्रशिक्षण के लिए बनाए गए भवन का ताला तोड़ा और बच्चों की जान जोखिम में देखकर उन्हें वहीं पढ़ाने के निर्देश दिए। वहीं शिक्षा सत्र शुरू होने के दो महीने बाद भी भवनों की मरम्मत न कराने पर नाराजगी भी जताई।

Leave a Comment