State

कृषि एवं जल संसाधन मंत्री ने किया अरपा-भैंसाझार बैराज परियोजना का निरीक्षण

रायपुर/जनदखल. कृषि एवं जल संसाधन मंत्री रविन्द्र चौबे ने बिलासपुर जिले की बहुप्रतीक्षित एवं महत्वपूर्ण अरपा-भैंसाझार बैराज परियोजना का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान बिलासपुर विधायक शैलेष पाण्डेय, जनप्रतिनिधिगण एवं विभागीय अधिकारी मौजूद थे। निरीक्षण के दौरान सिंचाई मंत्री ने विभागीय अधिकारियों से उक्त बैराज परियोजना के संबंध में विस्तार से जानकारी ली। सिंचाई मंत्री एवं विधायक ने बैराज स्थल पर वृक्षारोपण भी किया।

जल संसाधन मंत्री चौबे ने इस दौरान कहा कि यह जिले की महत्वपूर्ण बैराज परियोजना है। इससे क्षेत्र के 25 हजार हेक्टेयर में सिंचाई प्रस्तावित है। इस वर्ष 10 हजार हेक्टेयर खेतों तक पानी पहुंचाने का प्रयास किया गया है। इसके साथ ही निस्तारी के लिये भी पानी का उपयोग किया गया है। उल्लेखनीय है कि अरपा-भैंसाझार परियोजना कोटा विकासखंड के ग्राम भैंसाझार के समीप अरपा नदी पर स्थित है। इस परियोजना से जिले के तीन विकासखंडों कोटा, तखतरपुर और बिल्हा के 102 गांवों के कुल 25 हजार हेक्टेयर क्षेत्र में खरीफ फसल में सिंचाई किया जाना प्रस्तावित है।

परियोजना के बैराज का निर्माण कार्य पूर्ण हो चुका है। बैराज में अधिकतम जलभराव स्तर 302 मीटर है। परियोजना की मुख्य नहर की लंबाई 56.64 किलोमीटर है जिसका अधिकांश कार्य पूर्ण हो चुका है एवं 27 किलोमीटर नहर का परीक्षण शुरू कर दिया गया है। इस वर्ष अभी तक नहर किनारे स्थित 10 तालाबों को पेयजल और निस्तारी के लिये भरा जा चुका है। इसके अलावा सिंचाई के लिये 4 तालाब भी भरे जा चुके हैं।

Leave a Comment