Sports

युवा बल्लेबाज पृथ्वी शॉ डोपिंग टेस्ट में फेल, आठ महीने के लिए क्रिकेट से बैन

मुंबई/जनदखल. टीम इंडिया के युवा बल्लेबाज पृथ्वी शॉ को डोपिंग टेस्ट में फेल होने के बाद आठ महीने के लिए क्रिकेट से बैन कर दिया गया है। शॉ को क्रिकेट सिखाने वाले कोच संतोष पिनगुटकर ने अपने सबसे लोकप्रिय शिष्य की हौसला-अफजाई करते हुए कहा कि वो एक ‘फाइटर’ है और डोपिंग के कारण आठ महीने के बैन से मजबूत वापसी करेगा।

डोप टेस्ट में फेल होने पर 19 साल के इस सलामी बल्लेबाज को खेल के सभी फॉरमैट से बैन कर दिया गया है। बोर्ड ने अपनी विज्ञप्ति में कहा कि पृथ्वी ने गलती से प्रतिबंधित पदार्थ लिया जो आम तौर पर खांसी की दवाई पाया जाता है। मुंबई से लगभग 60 किमी दूर विरार में पृथ्वी को सबसे पहले क्रिकेट का सबक सिखाने वाले संतोष ने कहा, पृथ्वी फाइटर है और निश्चित तौर पर इससे उबर जाएगा। उसने शीर्ष पर पहुंचने के लिए कड़ी मेहनत की है।’

संतोष के मार्गदर्शन में ही पृथ्वी ने क्रिकेट सीखा। इसके बाद वो न्यूजीलैंड में अपनी कप्तानी में भारत को अंडर-19 विश्व कप जिताने में सफल रहे जबकि वेस्टइंडीज के खिलाफ अपने डेब्यू टेस्ट में सेंचुरी भी जड़ी। पृथ्वी के पिता पंकज उन्हें कोच संतोष के पास ले गए थे जो अकादमी चलाते हैं। संतोष ने कहा, ‘निश्चित तौर पर ये बड़ा झटका है लेकिन मुझे भरोसा है कि वह इससे उबर जाएगा।’ पृथ्वी का ये बैन 16 मार्च से प्रभावी होगा और 15 नवंबर को खत्म होगा जिसके कारण वो दक्षिण अफ्रीका और बांग्लादेश के खिलाफ भारत की घरेलू सीरीज में नहीं खेल पाएंगे।

Leave a Comment