Big news

येदियुरप्पा बने मुख्यमंत्री, अब सरकार बनाने की चुनौती सामने

बंगलुरु/जनदखल. कर्नाटक में जेडीएस-कांग्रेस की गठबंधन सरकार गिरने के बाद भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता बीएस येदियुरप्पा एक बार फिर सूबे के मुख्यमंत्री बन गए हैं। कर्नाटक बीजेपी अध्यक्ष बीएस येदियुरप्पा को राज्यपाल वजुभाई वाला ने मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाई। इस तरह बी एस येदियुरप्पा चौथी बार कर्नाटक के सीएम बनें। इससे पहले उन्होंने तीन बार कर्नाटक की कमान संभाली थी। लेकिन तीनों बार वो अपना कार्यकाल पूरा नहीं कर सके। बीएस येदियुरप्पा को 31 जुलाई को कर्नाटक विधानसभा में बहुमत साबित करना होगा।

हालांकि बीएस येदियुरप्पा के मंत्रिमंडल में कौन-कौन शामिल होगा, यह अभी साफ नहीं हो पाया है। बीएस येदियुरप्पा ने कहा कि ‘मंत्रिमंडल में किसे शामिल किया जाएगा, इसे लेकर मैं हमारे राष्ट्रीय अध्यक्ष से चर्चा करुंगा और उन्हें सूचित करुंगा। गुरुवार को स्पीकर रमेश कुमार ने तीन बागी विधायकों को दल-बदल रोधी कानून के तहत अयोग्य घोषित कर दिया है। इसके अलावा 14 बागी विधायकों के इस्तीफे पर स्पीकर ने अभी कोई निर्णय नहीं लिया है। इस तरह असेंबली की स्ट्रेंथ अब भी 222 बनी हुई है।

ऐसे में बहुमत साबित करने के लिए येदियुरप्पा को 112 विधायकों का समर्थन चाहिए होगा। जबकि उनके पास अभी 106 विधायकों का ही समर्थन है। शपथ के बाद येदियुरप्पा के सामने सबसे बड़ी चुनौती बहुमत परीक्षण को पास करने की होगी। बागी विधायकों ने साफ कहा है कि वे सदन से अपने इस्तीफे के फैसले पर अडिग हैं, मगर कर्नाटक की राजनीति में जैसी उथल-पुथल मची हुई है, ऐसे में कुछ भी नहीं कहा जा सकता।

Leave a Comment