Big news

राममंदिर के महत्वपूर्ण मसले पर सुप्रीम कोर्ट हफ्ते में पांच दिन सुनवाई करेगा

नई दिल्ली/जनदखल. सर्वोच्च न्यायालय में रामजन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद की सुनवाई जारी है। रामलला के वकील आज अपनी दलीलों को आगे बढ़ाएंगे। इस महत्वपूर्ण मसले को सुनने के लिए सुप्रीम कोर्ट ने अपनी एक परंपरा को तोड़ते हुए कहा कि इस मामले की सुनवाई अब हफ्ते में पांच दिन होगी। आपको बताते जाए कि रोजाना सुनवाई के तहत हफ्ते में तीन दिन सुनवाई होती थी। अयोध्या मामले की सुनवाई शुरू होते ही मुस्लिम पक्ष की तरफ से कोर्ट के सामने अपील की गई है कि वह हफ्ते में पांच दिन सुनवाई के लिए कोर्ट की सहायता नहीं कर सकते हैं।

मुस्लिम पक्षकार के वकील राजीव धवन ने कहा है कि ये सिर्फ एक हफ्ते का मामला नहीं है, बल्कि लंबे समय की समस्या रहेगी। उन्होंने कहा कि हमें दिन-रात अनुवाद के कागज पढ़ने और अन्य तैयारियां करनी पड़ती हैं। इस पर चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने कहा है कि हमने आपकी बात सुन ली है, हम आपको बताएंगे।

रामजन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद पर पूरे देश की नज़र लगी हुई है। ये मामला पिछले कई दशकों से अटका हुआ है। ऐसे में अबकी बार अदालत इसकी फाइनल सुनवाई कर रहा है और अब ये मामला एक तरह से फास्ट ट्रैक हो गया है। यही कारण रहा कि अदालत ने गुरुवार को कहा कि अब इस मामले की सुनवाई हफ्ते के पांच दिन की जाएगी। सोमवार को ईद पर अदालत की छुट्टी रहेगी, इसलिए अगले हफ्ते मंगल-बुध-गुरु और शुक्रवार को मामले की सुनवाई होगी।

Leave a Comment