Big news

सुप्रीम कोर्ट ने मध्यस्थता कमेटी को 31 जुलाई तक का समय दिया

नई दिल्ली/जनदखल. अयोध्या जमीन विवाद मामले में सुप्रीम कोर्ट ने मध्यस्थता कमेटी को 31 जुलाई तक का समय दिया है। सुप्रीम कोर्ट की संवैधानिक पीठ ने गुरुवार को मध्यस्थता कमेटी की रिपोर्ट देखने के बाद मध्यस्थता कमेटी को 31 जुलाई तक का ही समय दिया है। इसके बाद 2 अगस्त को दोपहर 2 बजे खुली कोर्ट में सुनवाई होगी। अर्थात 2 अगस्त को सुप्रीम कोर्ट निर्णय लेगा कि इस मामले का हल मध्यस्थता से निकाला जाएगा या रोजाना सुनवाई होगी।

राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद मामले के एक पक्षकार गोपाल सिंह विशारद की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने मध्यस्थता कमेटी से रिपोर्ट को मंगवाई थी। गुरुवार को मध्यस्थता कमेटी ने अपनी रिपोर्ट को कोर्ट में पेश की। प्रगति रिपोर्ट को सुप्रीम कोर्ट के पांच जजों की संविधान पीठ ने अवलोकन किया।

बेंच ने मीडिएशन कमेटी को 31 जुलाई तक का समय दिया है। इसके बाद 2 अगस्त को ओपन कोर्ट में मामले की सुनवाई होगी। माना जा रहा है कि 2 अगस्त को भी सुप्रीम कोर्ट मध्यस्थता कमेटी से प्रगति रिपोर्ट तलब कर सकती है और इस प्रगति रिपोर्ट के आधार पर सुप्रीम कोर्ट निर्णय लेगा।

Leave a Comment