Big news State

जलस्तर का गिरना चिंता का विषय, रेन वाटर हार्वेस्टिंग सबके लिये जरूरी – मुख्यमंत्री

रायपुर/जनदखल. रेन वाटर हार्वेस्टिंग के कार्यशाला में शामिल होने गए मुख्ममंत्री भूपेश बघेल ने बड़ी घोषणा करते हुए कहा कि विकासकार्यों के लिए जारी होने वाली राशि अब जनप्रतिनिधियों के हस्ताक्षर से भी स्वीकृत होगी। जो पहले सीएमओ के हस्ताक्षर से अनुमोदित होती थी अब अब फिर से विकास कार्यो के लिए महापौर, नगर पालिका अध्यक्ष समेत अन्य जनप्रतिनिधि राशि स्वीकृत कर सकेंगे। वहीं सीएम भूपेश ने विकास कार्यों के लिए सभी नगर पंचायतों को 50-50 लाख और प्रदेश के सभी नगर निगमों को उनकी जनसंख्या के हिसाब से 5 से 10 करोड़ देने की मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने घोषणा की।

रेन वॉटर हार्वेस्टिंग कार्यशाल में सीएम भूपेश ने कहा- ग्लोबल वॉर्मिंग की वजह से पूरे देश में ऋतु परिवर्तन की वजह से हो रही है। उन्होंने कहा, आज‌ जुलाई के आखरी सप्ताह में भी नदी, नाले और तालाब सुखे हुए हैं। भूमिगत स्त्रोत में महीनेभर से अधिक गिरावट है यह चिंता का विषय है। हार्वेस्टिंग की तकनीक आज की नहीं काफी पुरानी है। रेन वाटर हार्वेस्टिंग की व्यवस्था पुराने समय के लोगों ने पहले से की है जैसे गुजरात जैसे राज्य में पहले से यह व्यवस्था है।

महात्मा गांधी जी के जनस्थल पोरबंदर में यह व्यवस्था पहले से है। कार्यक्रम में सीएम भूपेश ने पूछा कि वाटर हार्वेस्टिंग की व्यवस्था किसके किसके यहां है। वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम नगरीय निकायों के जिन अध्यक्षों के यहां लगी है सीएम ने कहा इन सबका सम्मान किया जाना चाहिए। आज दुर्भाग्य से गली हो या आंगन कांक्रीट हो गया है जिसके चलते बारिश का पानी जमीन में नहीं जा पा रहा है। आज रायपुर के छह सौ से एक हजार फिट में पानी मिल रहा है।

Leave a Comment