Big news

पुलिस ने शिकंजा कसा, उन्नाव के विधायक सेंगर के हथियारों का लाइसेंस रद्द

लखनऊ/जनदखल. उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता के आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के तीनों हथियारों का लाइसेंस उन्नाव जिला प्रशासन ने रद्द कर दिया है। सेंगर के नाम पर एक बंदूक, एक राइफल और रिवाल्वर शामिल हैं। जिलाधिकारी देवेंद्र कुमार पांडेय ने इस प्रकरण की सुनवाई की थी जिसमें विधायक के पक्ष के वकील नहीं पहुंचे। इसके बाद उन्होंने आयुध लिपिक को कार्यालय बुलाकर शस्त्र लाइसेंस नियमावली के विभिन्न बिंदुओं पर चर्चा की और विधायक के तीनों हथियारों का लाइसेंस रद्द करने का आदेश दे दिया।

अप्रैल 2018 में भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के खिलाफ सामूहिक दुष्कर्म का मामला दर्ज किया गया था। जिसके बाद विधायक को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया था। फिलहाल उन पर सीबीआई कोर्ट में मुकदमा चल रहा है। इसके बाद पीडि़त पक्ष ने विधायक के शस्त्र लाइसेंस रद्द करने की मांग की थी। सामूहिक दुष्कर्म और अब हत्या के आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर एक साल से सीतापुर जेल में बंद हैं।

इस बीच विधायक से मिलने आए लोगों सिपाही को पैसे दिए, जिसकी पुष्टि सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो से हो गई है। इसके बाद जांच के आदेश दिए गए हैं। पुलिस महानिदेशक- जेल आनंद कुमार ने कहा- मैंने वीडियो नहीं देखा है, लेकिन यह बात मेरे संज्ञान में आई है। हम इस मामले की जांच करवाएंगे और कड़ी कार्रवाई की जाएगी। अगर कोई पुलिसकर्मी ऐसा करता पाया गया तो उसे बर्खास्त कर दिया जाएगा।

Leave a Comment