Big news State

सांसद सरोज पांडे को जवाब प्रस्तुत करने के लिए मिला चार सप्ताह का समय

रायपुर/जनदखल. भाजपा की राज्यसभा सांसद सरोज पांडे ने हाईकोर्ट में प्रस्तुत अपनी वह अर्जी वापस ले ली है, जिसमें उन्होंने उनके निर्वाचन को चुनौती देते हुए प्रस्तुत याचिका को चलने योग्य नहीं बताते हुए प्रस्तुत की थी। अब कांग्रेस के पराजित प्रत्याशी लेखराम साहू की चुनाव याचिका पर सांसद सरोज पांडे को लिखित जवाब पेश करने के लिए चार सप्ताह का अंतिम अवसर दिया गया है। अब 4 सितंबर को इस मामले पर अगली सुनवाई होगी। देश में राज्यसभा के रिक्त पद पर चुनाव की प्रक्रिया मार्च में पूरी की गई थी।

भाजपा ने जहां महिला प्रत्याशी के रूप में सरोज पांडे को मैदान में उतारा था। वहीं, कांग्रेस ने लेखराम साहू को प्रत्याशी घोषित किया था। मई के आखिरी सप्ताह में चुनाव परिणाम की घोषणा की गई, इसमें पांडे को निर्वाचित घोषित किया गया था। नतीजों से पहले ही साहू ने राज्य निर्वाचन आयोग में शिकायत कर आरोप लगाया था कि पांडे ने शपथपत्र में अपने निवास को लेकर गलत जानकारी देने का आरोप लगाते हुए बताया था कि पांडे ने शपथ पत्र में खुद को मैत्री नगर, दुर्ग का निवासी बताया था, यह दुर्ग शहरी क्षेत्र में आता है।

जबकि वे जल विहार कॉलोनी में रहती हैं, जो दुर्ग ग्रामीण में शामिल है। इसी तरह उन्होंने अपने यूनियन बैंक ऑफ इंडिया के बैंक खाते की जानकारी नहीं दी है। राज्य निर्वाचन आयोग ने उनकी शिकायत का निराकरण नहीं किया। 23 मार्च 2018 को दर्ज कराई गई आपत्ति का जवाब 27 मार्च 2018 को परिणाम की घोषणा के बाद दिया गया। साहू ने इसके बाद एडवोकेट सुदीप श्रीवास्तव और हिमांशु शर्मा के जरिए हाईकोर्ट में चुनाव याचिका प्रस्तुत कर पांडे के निर्वाचन को निरस्त करने की मांग की थी। सांसद सरोज पांडे को लिखित जवाब प्रस्तुत करने के लिए चार सप्ताह का अंतिम अवसर देते हुए 6 सितंबर को अगली सुनवाई तय की है।

Leave a Comment