Big news State

मिनीमाता को दलितों एवं महिलाओं के उत्थान के लिये हमेशा याद किया जाएगा

रायपुर/जनदखल. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बड़ा बयान दिया है। मुख्यमंत्री ने इस बात का ऐलान किया है कि छत्तीसगढ़ में अनुसूचित जाति को उनकी जनसंख्या के अनुपात में आरक्षण दिया जाएगा। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने ये ऐलान मिनीमाता के स्मृति दिवस पर किया। मुख्यमंत्री ने आज मिनीमाता को उनकी पुण्यतिथि पर विनम्र श्रद्धांजलि दी। गिरौदपुरी को गरिमा के अनुसार छत्तीसगढ़ के प्रमुख स्थल के रूप में विकसित किया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आरक्षण के मुद्दे पर सरकार गंभीरता से विचार करेगी और जनसंख्या के अनुपात में आरक्षण दिया जायेगा। उन्होंने कहा कि मिनीमाता की स्मृति में छत्तीसगढ़ में 11 कन्या छात्रावासों के लिए अगले बजट में स्वीकृति दी जायेगी। इससे पहले मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने छत्तीसगढ़ की प्रथम महिला सांसद मिनीमाता की पुण्यतिथि पर आज रायपुर के नया बस स्टैंड स्थित उनकी मूर्ति पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि अर्पित की।

मुख्यमंत्री ने कहा है कि मिनीमाता को दलितों एवं महिलाओं के उत्थान के लिये किये गए कार्यों के लिये सदैव याद रखा जाएगा। स्नेह और ममता की प्रतिमूर्ति मिनीमाता मानव उत्थान एवं समाज कल्याण के लिये समर्पण के साथ आजीवन सक्रिय रहीं। दलितों के नागरिक अधिकारों की रक्षा के लिये अस्पृश्यता निवारण अधिनियम को संसद में पारित कराने में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका थी। उन्होंने मजदूरों को एकजुट करने के लिये छत्तीसगढ़ मजदूर संघ का गठन किया। मिनीमाता गरीब, दीन-दुखियों के साथ ही आम जनता की मदद के लिये हमेशा तत्पर रहती थी।

Leave a Comment