Big news

कारगिल की वादियों में फिर गूंजा देशभक्ति का संगीत, मनाया विजय दिवस

नई दिल्ली/जनदखल. भारतवासी शौर्य का कारगिल विजय दिवस मना रहे हैं। क्योंकि आज से 20 साल पहले करगिल की पहाड़ियों घुसपैठ करके बैठे पाकिस्तानी घुसपैठियों को भारतीय सेना के जवानों ने वापस खदेड़ दिया था। हिंदुस्तान की सेना के जवानों ने पाकिस्तान पर फतह हासिल की थी। ऐसे में द्रास, करगिल की फिजाओं में एक बार फिर देशभक्ति का संगीत गूंज उठा था। क्योंकि कारगिल की हवा और फिजा में देशभक्ति और शौर्य के सिवा कुछ नहीं मिलेगा।

एक बार फिर शहीदों के लिए मेला लग रहा है, शहीदों के सम्मान में दूर-दूर से लोग द्रास के शहीद स्मारक में पहुंचे हैं। जहां करगिल विजय दिवस मनाया जा रहा है। भारत और पाकिस्तान के बीच 1999 में करगिल युद्ध हुआ था। इसकी शुरुआत 8 मई 1999 से जब पाकिस्तानी फौजियों और कश्मीरी आतंकियों को कारगिल की चोटी पर देखा गया था। पाकिस्तान इस ऑपरेशन के लिए 1998 से तैयारी करने में जुटा था। पाकिस्तान ने झूठा दावा करते हुए कहा था कि करगिल लड़ाई में सिर्फ मुजाहिद्दीन शामिल थे। बल्कि सच यह है कि यह लड़ाई पाकिस्तान के नियमित सैनिकों ने भी लड़ी थी। पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई के पूर्व अधिकारी शाहिद अजीज ने इस राज से पर्दा उठाया था।

Leave a Comment