Big news State

आईपीएस मुकेश गुप्ता की मुश्किलें बढ़ीं, फिर से खुली मिक्की मेहता मामले की फाइल

रायपुर/जनदखल. आईपीएस मुकेश गुप्ता की मुश्किलें बढ़ती जा रही है। फोन टेपिंग और भिलाई जमीन मामले में घिरने के बाद अब मिक्की मेहता मामले की फाइल फिर खुल गई है। डीजीपी डीएम अवस्थी ने रायपुर आईजी को पत्र लिखकर फिर से इस मामले की जांच करने के लिखा है। रायपुर आईजी डॉ. आनंद छाबड़ा अब इस केस की नए सिरे से जांच करेंगे। ज्ञातव्य है, पूर्व मंत्री ननकीराम कंवर की शिकायत पर नई सरकार ने तत्कालीन डीजी गिरधारी नायक को मिक्की मेहता मामले की जांच का जिम्मा दिया था। 30 जून को रिटायरमेंट से पहले नायक ने मिक्की मेहता मामले की लंबी-चौड़ी जांच रिपोर्ट सरकार को सौंप दी थी।

नायक ने अपनी रिपोर्ट में स्पष्ट किया था कि सिविल लाइन पुलिस ने सही ढंग से घटना की जांच नहीं की थी। जांच में गंभीर त्रुटियां और अनियमितता मिली है। सरकार ने अब इस पर संज्ञान लिया है। सरकार ने डीजीपी को फिर से मिक्की मेहता की संदिग्घ परिस्थितियों में हुई मौती की जांच करने के लिए कहा। आज डीजीपी डीएम अवस्थी ने मामले की जांच के लिए रायपुर आईजी को अपाइंट कर दिया। उन्होंने नायक की जांच रिपोर्ट का हवाला देते हुए लिखा है कि सिविल लाईन थाने ने उस समय सही ढंग से अपने दायित्व का निर्वहन नहीं किया। ज्ञातव्य है, मुकेश गुप्ता की पत्नी मिक्की मेहता की 2003 में आग से जलने से मौत हो गई थी। मिक्की के परिजन उसकी मौत के लिए मुकेश गुप्ता को जिम्मेदार ठहराते हुए इसकी उच्च स्तरीय जांच की मांग करते रहे हैं।

Leave a Comment