Big news

चक्रवाती तूफान ‘फोनी’ ओडिशा के तटीय इलाकों के लिए बड़ा खतरा, नौसेना हाई अलर्ट पर

tufan

चक्रवाती तूफान ‘फोनी’ ओडिशा के तटीय इलाकों के लिए एक बड़ा खतरा बनकर उभर रहा है। मौसम विभाग के मुताबिक बंगाल की खाड़ी में मौजूदा चक्रवात लगातार ताकतवर होता जा रहा है। मंगलवार को सेटेलाइट से मिली तस्वीरों और रडार से मिली सूचना के आधार पर यह तय माना जा रहा है कि चक्रवाती तूफान फाेनी 4 मई की सुबह पुरी के आसपास लैंडफॉल करेगा। तब तक यह अति भीषण चक्रवाती तूफान होगा। हवा की रफ्तार 160 किमी प्रति घंटे से लेकर 170 किमी प्रति घंटे की होगी। इसके झोंके 190 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार तक जा सकते हैं। साइक्लोन के चलते ओ़डिशा के पूरे के पूरे कोस्टल इलाके में हाई अलर्ट कर दिया गया है।


समुद्री तूफान ‘फोनी’ के प्रभाव और राहत-बचाव के लिए केन्द्रीय मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान ने कैविनेट सेक्रेटरी पी.के सिन्हा, आईएमडी के क्षेत्रीय प्रमुख एच.आर. विश्वास और एनआरडीएफ के डीआईजी के.के. सिन्हा से सोमवार को ही टेलीफोन पर बातचीत की थी। स्थिति से निपटने के लिए प्रशासन पूरी तरह तैयार है। राज्य के विशेष राहत कमिश्नर (एसआरसी) विष्णुपद सेठी ने मंगलवार को बताया कि सभी तूफान आश्रय स्थलों को तैयार रखा गया है। एनडीआरएफ के 12 दल, ओड्राफ की 20 टीमें और अग्निशमन विभाग की 230 टीमें किसी भी स्थिति से निपटने के लिए सतर्क हैं। जिलाधिकारियों से भी हर स्थिति के लिए तैयार रहने को निर्देश दिए गए हैं। मौसम विभाग के अनुसार गोपालपुर से लेकर पुरी कोणार्क और बालासोर तक समंदर के किनारे मौजूद ओडिशा के बड़े इलाके में तूफान ‘फोनी’ कहर बरपा सकता है। 


साइक्लोन के चलते ओ़डिशा के पूरे के पूरे कोस्टल इलाके में हाई अलर्ट कर दिया गया है। दो मई से तमिलनाडु के उत्तरी कोस्टल इलाके में हल्की से मध्यम दर्जे की बारिश शुरू हो जाएगी। इसी तरह से आंध्र प्रदेश के उत्तरी कोस्टल इलाके में तेज हवाओं के साथ हल्की से मध्यम दर्जे की बारिश इस दौरान देखी जाएगी। तीन मई तक आंध्र प्रदेश के साथ-साथ ओ़डिशा के ज्यादातर इलाकों में मूसलाधार बारिश का सिलसिला शुरू हो जाएगा। चार मई को मौसम विभाग के मुताबिक ओ़डिशा के पूरे के पूरे कोस्टल बेल्ट में भारी बारिश और तूफानी हवाओं का कहर बरप सकता है। उसके बाद यह साइक्लोन एक बार फिर संमुद्र में पहुंच जाएगा। वहां यह फिर से तेज़ी पकड़ेगा और इसके बाद पश्चिम बंगाल के सुंदरबन के इलाके की तरफ तूफान का रुख होगा। पांच मई को पश्चिम बंगाल के तमाम इलाकों में तूफान ‘फोनी’ का कहर दिख सकता है।

Leave a Comment