Big news

आखिरकार इसरो ने बाहुबली को चांद पर रवाना किया, पहले आई थी खराबी

नई दिल्ली/जनदखल. भारत का चांद पर जाने वाला चंद्रयान-2 आज लॉन्च कर दिया गया है। चंद्रयान-2 अभी शुरुआती दौर में हैं। इसरो की तरफ से कहा गया है कि अभी रॉकेट की गति बिल्कुल सामान्य है यानी अभी ये यान इसरो की प्लानिंग के हिसाब से ही चल रहा है। चंद्रयान-2 48 दिनों के बाद चांद पर पहुंच जाएगा। चांद और पृथ्वी के बीच की दूरी 3, 84, 000 किलोमीटर है।

भारत का अब तक का सबसे शक्तिशाली लॉन्चर है। इसे पूरी तरह से देश में ही बनाया गया है। तीन स्टेज का यह रॉकेट 4 हजार किलो के उपग्रह को 35,786 किमी से लेकर 42,164 किमी की ऊंचाई पर स्थित जियोसिनक्रोनस ऑर्बिट में पहुंचा सकता है। 10 हजार किलो के उपग्रह को 160 से 2000 किमी की लो अर्थ ऑर्बिट में पंहुचा सकता है। इस रॉकेट के माध्यम से 5 जून 2017 को जीसेट-19 और 14 नवंबर 2018 को जीसेट-29 का सफल प्रक्षेपण किया गया है।

इसरो ने बताया कि जियोसिंक्रोनस सैटेलाइट लॉन्च व्हीकल मार्क-3 (जीएसएलवी मार्क-3) में आई तकनीकी खराबी को ठीक कर लिया गया है।बाद में इसरो ने अपने 44 मीटर लंबे जियोसिनक्रोनस सैटेलाइट लांच व्हीकल-मार्क-3 (जीएसएलवी-एमके-3) की गड़बड़ी दूर की। 640 टन वजनदार जीएसएलवी-एमके-3 को बाहुबली फिल्म के नायक के नाम पर बाहुबली का उपनाम दिया गया है।

Leave a Comment