Big news

सत्रहवीं लोकसभा ने बनाया रिकॉर्ड, 35 विधेयक इस सत्र में पारित हुए

नई दिल्ली/जनदखल. सत्रहवीं लोकसभा का पहला सत्र मंगलवार को संपन्न हो गया। 37 बैठकों वाले इस सत्र में रिकॉर्ड 35 विधेयक पारित हुए। इससे 1952 में बनी पहली लोकसभा के पहले सत्र में 24 विधेयकों को पारित करने का रिकॉर्ड भी टूट गया। इस सत्र में पारित होने वाले विधेयकों में जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन और तीन तलाक समेत कई अहम बिल शामिल हैं।

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला ने सदन की कार्यवाही अनिश्चितकाल के लिए स्थगित करने की घोषणा करते हुए कहा कि यह 1952 से लेकर अब तक का सबसे स्वर्णिम सत्र रहा। पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार, सत्र 7 अगस्त तक प्रस्तावित था, लेकिन सरकार के आग्रह पर स्पीकर ने इसे एक दिन पहले ही अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया। उन्होंने कहा कि 17 जून से 6 अगस्त तक चले इस सत्र में कुल 37 बैठकें हुईं और करीब 280 घंटे तक कार्यवाही चली। बिड़ला ने सदन को सुचारू रूप से चलाने में सहयोग के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी और विभिन्न दलों के नेताओं को धन्यवाद दिया।

पहले सत्र की उपलब्धियों में 1,066 मामलों को उठाने की शून्यकाल के दौरान अनुमति दी गई, , 18 जुलाई को रिकॉर्ड 161 सांसदों को शून्यकाल में मौका दिया गया, 125 फीसदी रही लोकसभा की समग्र उत्पादकता कुल बैठकों के दौरान, 7.6 प्रश्नों के उत्तर प्रतिदिन औसतन दिए, पिछले 20 साल का औसत 3.35 है और 265 नव-निर्वाचित सांसदों में से सभी को सदन में बालने का मौका मिला।

Leave a Comment