भोपाल मेट्रो

मेट्रो प्रोजेक्ट:भोपाल मेट्रो के लिए अब जल्द जारी हो सकते हैं 650 करोड़ के नए टेंडर; सेंट्रल ग्रांट मिलने के आसार भी बढ़े

भोपाल म.प्र.

मेट्रो प्रोजेक्ट के लिए राज्य सरकार के बजट में 262 करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया है। भोपाल में अभी लगभग 250 करोड़ रुपए से 6.22 किमी रूट के सिविल वर्क का काम चल रहा है। अगले कुछ दिनों में इस रूट पर सात स्टेशनों के निर्माण के लिए 350 करोड़ और डिपो निर्माण के लिए लगभग 300 करोड़ रुपए के टेंडर और जारी होने वाले हैं। इन तीनों को जोड़ लिया जाए तो यह राशि 900 करोड़ रुपए होती है।

उम्मीद… लोन की पहली किस्त की
मेट्रो बोर्ड का गठन पिछले साल दिसंबर में हो पाया है। इसमें केंद्र सरकार के अधिकारी भी शामिल हैं। केंद्र सरकार बोर्ड के गठन के बाद ही राशि देती है। आम तौर पर राज्य सरकार जितना प्रावधान करती है, लगभग उतना ही अनुदान केंद्र का होता है। इस हिसाब से 250 करोड़ रुपए तक केंद्र से मिल सकते हैं। साथ ही लोन की पहली किस्त भी मिल सकती है। यूरोपियन इंवेस्टमेंट बैंक हर निर्माण के हिसाब से सरकार के अनुदान के आधार पर लोन देगा।

भोपाल मेट्रो पैसे का गणित

  • कुल लागत : 6941.00
  • राज्य का अंश (20%) : 1388.20
  • केंद्र का अंश (20%) : 1388.20
  • यूरोपियन इंवेस्टमेंट बैंक से लोन (50%) : 3,470.20
  • बॉन्ड या किसी भारतीय बैंक से कर्ज (10%) : 694.10

170 करोड़खर्च हुए भोपाल में अब तक
एम्स से सुभाष नगर तक 6.22 किमी के रूट के सिविल वर्क का लगभग 30 फीसदी काम हुआ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *